आईपीएल टी-20 क्रिकेट पर सट्टा लगाने वाले चार को पुलिस ने किया गिरफ्तार। नीडो तानिया हत्याकांड : कोर्ट ने आरोप पत्र का लिया संज्ञान। मियांवाली नगर इलाके में आॅटो चालक ने नशीला पेय पदार्थ पिलाकर युवती किया रेप, आरोपी चालक फरार। बिंदापुर में अलमारी में मिली युवती की सड़ी-गली लाश, युवक फरार। बाराखंभा थाने की तीसरी मंजिल से युवक ने लगाई छलांग, अस्पताल में भर्ती, हालत गंभीर।

Wed23072014

Back You are here: Home About Us

About US

कंपनी का उद्देश्य
देश में तेजी से पनप रहे अपराध और अपराधियों पर पैनी नजर रखने के लिये प्राइम इंडिया मीडिया एण्ड फिल्मस हाउस का गठन किया गया। यह संस्थान शुरुआती दौरमें न्यूज पोर्टल के जरिये अपराधों पर अंकुश लगाने की पुरजोर कोशिश करेगा। जनता को जागरुक रखने,उनके हक की लड़ाई-लड़ने से लेकर पर्यावरण को बर्बाद करने वालों पर खास नजर रखेगा। क्योंकि देश की अधिसंख्य जनता पर्यावरण को खतरा पहुंचाने वालों से अनभिज्ञ है। इको क्राइम कॉलम के जरिये इस दिशा में सक्रिय योगदान देने के लिए प्रकृति से जुड़े मसलों को संस्थान सदैव प्राथमिकता के साथ उजागर करेगा। इसके साथ ही भ्रष्टाचार और अंधविश्वास को दूर करने के सभी सार्थक कदम उठायेगा। खबरों के माध्यम से सच उजागर करना और जनता तक पहुंचाना हमारा मुख्य उद्देश्य है।
 
 
नासिर खान
मैनेजिंग एडीटर
मूलरुप से उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद के रहने वाले हैं। इलाहाबाद विश्वविधालय से लॉ ग्रेजुएशन किया और फिर यहीं अमृत प्रभात अखबार से जुड़े रहें। नब्बे के दशक में दिल्ली आ गए और फिर यहां अमर उजाला जैसे अखबारों में क्राइम और केन्द्रीय गृह मंत्रालय की बीट संभाला। लाइव इंडिया टीवी चैनल में क्राइम हेड रहें। इससे पहले स्टार न्यूज के चर्चित
क्राइम शो सनसनी के शुरुआती दौर से ब्यूरो चीफ रहें। अपने अथक प्रयास और टीम वर्क से सनसनी को उचाईयों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया और सनसनी देश का नंबर वन क्राइम शो बना। फिलहाल,अब कुछ नया करने के लिए न्यूज पोर्टल लांच किया है।
 

विष्णु चन्द्र यादव डायरेक्टर
मूलरुप से उत्तर प्रदेश के जौनपुर के रहने वाले हैं। गारमेंट्स इंडस्ट्री से जुड़े विष्णु मीडिया के क्षेत्र में खासी दिलचस्पी रखते हैं। फोटो पत्रकरिता के क्षेत्र में कुछ खास करने के लिए उत्सुक हैं। मौजूदा वक्त में प्राइम इंडिया के डायरेक्टर भी हैं।
 
 

यशपाल मलिक एडिटोरियल एडवाइजर
यशपाल मलिक अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष हैं। इनका जन्म 15 जुलाई 1963 को मुजफ्फरनगर जिले के खरड गांव में हुआ था। इन्होंने सन् 1978 में विज्ञान वर्ग से हाईस्कूल की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास की। सन् 1980 में भोपा से इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की थी। देश सेवा के लिए मलिक 1981 में भारतीय वायुसेना में भर्ती हो गए। नौकरी के
दौरान ही इन्होंने स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई की। इसके बाद सौराष्ट्र विश्वविद्यालय, गुजरात से विधि स्नातक की पढ़ाई की। मलिक कुशल व्यापारी समाजसेवी और प्रकाशक हैं। मौजूदा वक्त में प्राइम क्राइम इंडिया के एडीटोरियल एडवाइजर भी हैं।  
 
 

डी.बी.गोस्वामी लीगल एडवाइजर
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता हैं और देश के जाने-माने क्रिमिनल लॉयर में गोस्वामी का नाम शुमार होता है। पत्रकार शिवानी भटनागर हत्याकांड,निगम पार्षद आत्माराम गुप्ता हत्याकांड जैसे तमाम सनसनीखेज मामलों के वकील हैं। अकेले दम पर अपनी प्रतिभा और मेहनत की बदौलत गोस्वामी ने आज वह मुकाम हासिल कर लिया है,जो तमाम वकीलों का आदर्श होता है।
 
 

सलीम ए.खान-लीगल एडवाइजर
सुप्रीम कोर्ट के जाने-माने क्रिमिनल लॉयर हैं। निचली अदालत से प्रैक्टिस शुरु कर अब देश की सर्वोच्च अदालत में चिर-परिचित नाम है। मौजूदा वक्त में खुद की लॉ फर्म है और इनके फर्म में दर्जनों लॉयर काम करते हैं। इसके साथ ही मीडिया से खासी रुचि होने के साथ-साथ प्राइम इंडिया के लीगल एडवाइजर भी हैं।